भविष्य की योजना

नवरात्री खत्म हो गयी बहुत जल्द दीवाली प्यारी आ रही हैं,

अब घर में सफाई करने की बारी आ रही हैं

सफाई का सामान बेचने वालों ने सजा ली हैं दुकानें

सामान खरीदने हर नर हर नारी आ रही हैं

कुछ न कुछ हर कोई खरीदता हैं

किसी के मन में गाड़ी आ गयी हैं

कपडे खरीदने का शुरू से चलन हैं

हर औरत के मन में साड़ी आ गयी हैं

सज गयी हैं दुकाने पटाखों की

बम, फुलझड़ी, अनार की झाड़ी आ गयी हैं

हर कोई खुश हो रहा हैं

जैसे जिंदगी में फूलों की बाड़ी आ गयी हैं

हमारी शुभकामाएं आपके साथ खूब अच्छे से दीवाली मनाए

कर लक्ष्मी पूजन खूब नाचे गाये

पटाखों का शोर थोड़ा कम करे

और अपना पर्यावरण बचाए।


Very Very Happy Deewali In Advance.

नशा

जिससे प्यार करते थे उसकी शादी में हम गए,
पी ली इतनी शराब की दिल के सारे गम गए,
फिर हमने गाना गाया “मेरे यार की शादी हैं”,
एक दोस्त ने कान में कहा तेरी तो बर्बादी हैं,
अब लफ्ज़ नहीं निकल रहे थे लब से शामत आ गयी थी गले पर,
क्योंकि किसी ने नमक छिड़का था हमारे जले पर,
अब रुख बदला चल दिए मयखाने पर ,
अब हमारी नजर थी सिर्फ पैमाने पर,
इतनी पी की होश खो गए,
हम बिना बिस्तर जमीं पर सो गए,
आँख खुली थी आसमान घूम रहा था,
हर बाराती डी जे पर झूम रहा था,
अब हद ही हो गयी
कोई हमे लाँघ के चला गया
हमसे यह सहा नहीं गया,
नशे में भी रहा नहीं गया,
अब वो आगे हम पीछे थे,
पता नहीं चारों तरफ फसल थी की बगीचे थे,
ऐसे बहुत दूर आ गए थे उस शादी से,
नज़ारे थी किसी वादी से,
फिर अचानक वो रूक गया ,
जैसे अपनी असल राह से चूक गया,

जैसे ही वो मुड़ा हमने कहा ये क्या बला हैं,
ये तो हमारा प्यार निर्मला हैं,
फिर क्या था मंदिर में शादी करली,
नशे में खुद की बर्बादी करली।
                                        इति।